love shayari jab paas tha

love shayari jab paas tha

love shayari jab paas tha

 

 

love shayari-जब पास था

love shayari jab paas tha
love shayari jab paas tha

jab paas tha

जब पास था वो खूब लडे उससे उसे कभी समझ न पाये
पर जब पास नही वो न जाने क्यों हर पल उसकी याद बहुत सताये
जिसे प्यार करते है उसे समझ नही पाते यही सबसे बड़ी हमारी गलती होती है
फिर दूर होकर उससे सिर्फ पछताते है और उसकी कमी हमे जीने नही देती है

घुट घुट के रह जाती है जिन्दगी फिर जिन्दगी में हम कुछ कर नही पाते
फिर उसकी तरह हमारी हर बात सुनने वाला हमे कभी मिल नही पाते
फिर देखते रह जाते है उसे जिन्दगी भर पर वो फिर हमारे करीब नही आते
पाने की चाहत होती है जिसकी उसके बिन जिन्दगी भर अधूरे रह जाते

प्यार करते है जिससे सच्चा उसे समझना जरुरी होता है
हाँ ये भी सच है सच्चे प्यार में तडपना भी जरूरी होता है