deepshayari.com

Dard Bhari Shayari hum kitna rote hain

Dard Bhari Shayari hum kitna rote hain

 

Dard Bhari Shayari-हम रोते है

Dard Bhari Shayari hum kitna rote hain
Dard Bhari Shayari hum kitna rote hain

 

hum kitna rote hain

हम रोते है अक्सर उसे याद करके
हो जाते है गुम अक्सर उसे याद करके
बस यादे ही रह जाती है जिन्हें हम कभी भुला नही पाते
पा तो लेते है प्यार जिसका उसे उम्र भर अपना बना नही पाते

नही छोडती है उसकी यादे पिछा हमारा हमे जिन्दगी भर सताती है
अक्सर याद आती है जब उसकी न जाने क्यों इतना रुलाती है
न जाने क्यों तब जिन्दगी जीने को मजबूर हो जाते है
जब प्यार से हम अपने दूर हो जाते है

कद्र करो प्यार की जो जिन्दगी में एक ही बार मिलता है
फिर उसके जैसा जिन्दगी भर ढूडटे पर भी नही मिलता है
बद नसीबी से जो हो जाता है दूर वो याद बनकर बहुत सताता है
जीने नही देती है याद उसकी फीर वो हमे उम्र भर रुलाता है


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *