Sad Shayari kisi ka dil dukhana

Sad Shayari kisi ka dil dukhana

Sad Shayari-किसी का दिल दुखाया

Sad Shayari kisi ka dil dukhana
Sad Shayari kisi ka dil dukhana

 

kisi ka dil dukhana

सायद किसी का दिल पिछले जन्म में हमने भी दुखाया होगा
जो इस जन्म में तू मेरा होकर भी मेरा नही बन पाया होगा
क्या पता उस जन्म की सजा ही मैंने इस जन्म में पायी है
जो तू आज मेरी होकर भी हो गयी पराई है

जिन्दगी जीने का मकसद ही अधुरा कर गयी
करा के अपने प्यार का अहसास हमे पराया कर गयी
अब याद करके उसे अक्सर रो लेते है
हमेसा सपने ही देखे थे जो उसके लिए उन्ही सपनों में खो लेते है

अक्सर सच्चे प्यार के साथ हमेसा ही यैसा होता है
जो सोचता है अपने प्यार के लिए कुछ करना वही अपना प्यार खोता है
जो डूबे रहते है हमेसा किसी के गम में वो किसी का दिल क्या दुखायेंगे
जिसे सताया हो किस्मत ने वो किसी को क्या सतायेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *