hindi shayari kuch sapno ko pura karne

 hindi shayari kuch sapno ko pura karne

hindi shayari-सपनों को पूरा करने

 

 hindi shayari kuch sapno ko pura karne
hindi shayari kuch sapno ko pura karne

kuch sapno ko pura karne

न जाने अपना क्या क्या पीछे छोड़ आये हम
कुछ कमाने के चक्कर में बहुत आगे निकल आये हम
गावं छोड़ा गली छोड़ी छोड़ दिए सब अपने
इस उम्मीद से बड रहे है आगे क्या पता हो जायेगे पुरे हमारे सपने

उन सपनों को पूरा करने न जाने कितने लोग घर से निकलते है
सायद हो जायेंगे हर अरमान पुरे उनके वो अकेले ही जिन्दगी के सफर में चलते है
पर हर मोड़ पर है संघर्स यहाँ ये जिन्दगी इतनी भी हसीन नही
सोचते है सायद आसान होगा सब कुछ पर ये जिन्दगी हमें धोखा दे देती है कही न कही

हम अपना सब कुछ छोड़ कर भी जिन्दगी में क्या पाते है
जिस खुशी के पीछे भागते रहते है जिन्दगी भर उससे हमेसा वंचित रह जाते है
यही इस जिन्दगी का खेल है यारो ये जिन्दगी इतनी भी आसान नही
घुमा फिरा के ले आती है वही हम कुछ कर पाते नही