love shayari aankh band karke

love shayari aankh band karke 

love shayari-आँख बंद करके

 love shayari aankh band karke
love shayari aankh band karke

aankh band karke

आँख बंद करके उसे महसूस कर लेते है
सपनो में अक्सर उसे देख लेते है
भले ही वो न बन पाया मेरा
वो कभी सिर्फ मेरा था यही सोच के खुस हो लेते है

क्या होता है प्यार ये बताया उसने
उलझ चुकी थी जिन्दगी जीना सिखया उसने
क्या हुवा जो अब पास नही है वो मेरे
कभी बिछड़ जायेंगे हम ये पहले ही बताया था उसने

न थी उम्मीद कभी हमारा प्यार हमें मिल पायेगा
मजबूरी आती है आगे जिस प्यार में फिर सायद ही कोई कुछ कर पायेगा
फिर अक्सर प्यार से हम अपने समझोता कर लेते है
मुमकिन नही होता जिससे दूर रहना मजबूरी से उससे दूर रह लेते है

फिर जिन्दगी भर उसका प्यार अपने दिल में बसा लेते है
मिल पाते नही है फिर हकीकत में कभी बस ख्वाबो और ख्यालो में उसे मिल लेते है