Dard Bhari Shayari tere pyaar ka dard

Dard Bhari Shayari tere pyaar ka dard

Dard Bhari Shayari tere pyaar ka dard

 

Dard Bhari Shayari – तेरे प्यार का दर्द

Dard Bhari Shayari tere pyaar ka dard
Dard Bhari Shayari tere pyaar ka dard

tere pyar ka dard shayari

तेरे प्यार का दर्द मिला भी तो क्या मिला
मेरे प्यार का दिया तूने जो सिला
ये मेरी किस्मत होगी जो प्यार तेरा मिलके भी तू ना मिला
सिकवा करे अब क्या किस्मत से क्या अब किसी से करे गिला

दर्द ही दर्द मिलता है किसी के दूर जाने से
हम ना जाने कैसे चुक गये उसे अपना बनाने से
एक छोटी सी भूल से वो हमसे दूर हो गये
वो वापस कभी मिल ना पाये इतने मजबूर हो गये

एक छोटी सी गलती की इतनी बड़ी सजा मिली
तमन्ना थी जिसको पाने की वो फिर कभी न मिली
दर्द ही दर्द दे गया वो हमसे दूर जाकर
फिर हम ना रह पाए खुस किसी और को अपना बनाकर