Dard Bhari Shayari ye dard jine nahi deta

Dard Shayari badee muskil se so paate hai raato ko

Dard Bhari Shayari ye dard jine nahi deta

 

Dard Bhari Shayari-बड़ी मुस्किल से सोते है रातो को

Dard Shayari badee muskil se so paate hai raato ko
Dard Shayari badee muskil se so paate hai raato ko

 

Dard  Shayari ye dard jine nahi deta

बड़ी मुस्किल से सो पाते है रातो को
दिन भर हमारा बुरा हाल होता है
मिल ही जाता छुटकारा इस जिन्दगी से
बिन तेरे जी पाना बड़ा दुसवार होता है

ये दर्द ना जाने क्यों जीने नही देता
सोचते है जी लेगे बिन तेरे पर ना जाने क्यों एसा नही होता
ये कैसी घुटन है जिसमे घुट घुट के मर रहे है
हमे ना है पता के हम क्या कर रहे है

बिन तेरे दर्द ही दर्द है जिन्दगी में खुसी का एह्सास नही
सिर्फ यादे ही यादे रह गयी जिन्दगी में एक तू मेरे पास नही
मुस्किल हो गयी है जिन्दगी अब किधर जाए हम
ना जाने सतायेगा ये प्यार कितना और ना जाने देगा हमे कितने गम