Bewafa Shayari bewafa baar baar yaad aata hai

Bewafa Shayari bewafa baar baar yaad aata hai

Bewafa Shayari bewafa baar baar yaad aata hai

 

Bewafa Shayariबेवफा बार बार याद आता है

 

Bewafa Shayari bewafa baar baar yaad aata hai
Bewafa Shayari bewafa baar baar yaad aata hai

bewafa baar baar yaad aata hai

ना जाने क्यों वो बेवफा बार बार याद आता है
बार बार याद आकर क्यों  हमे सताता है
सोचते है फिर कभी याद ना करेंगे उसे
पर कभी सपने में आकर वो और याद आ जाता है

उसकी बेवफाई को याद कर  उसको भूल जाना चाहते है
फिर भी ना जाने  क्यों कभी किसी बात पे वो याद आ जाते है
ना जाने ये यादे किसी का पीछा क्यों नही छोडती
बेबस हो जाता है आसिक ये चैंन से रहने नही देती