Dard Bhari Shayari wo hame aur bhi yaad

Dard Bhari Shayari wo hame aur bhi yaad

Dard Bhari Shayari wo hame aur bhi yaad

 

Dard Bhari Shayari– हमे याद कर रहा होगा

Dard Bhari Shayari wo hame aur bhi yaad
Dard Bhari Shayari wo hame aur bhi yaad

 

wo hame aur bhi yaad

 

बहुत आ रहे सपने उसके सायद वो भी हमे याद कर रहा होगा
दूर रहकर वो भी हमसे मिलने की फरियाद कर रहा होगा
पर मजबूरी के हाथों दोनों ही मजबूर है
मिल नही सकते अब कभी इसलिए हो गये हम एक दूजे से दूर है

प्यार उसका सच्चा था ये हम जानते है
किसी और का होकर भी जिंदगी में हमारे उसे ही अपनी जांन मानते है
मजबूरी थी हमारी जो प्यार होकर भी साथ हम रह ना सके
प्यार था ही हमारा एसा जो किसी से हमकुछ कह ना सके

इतने सालो बाद भी हम तड़पते है तो वो भी सायद तड़पता होगा
याद करके उन पलो को सायद वो भी रोता होगा
इस जिन्दगी में किसी को प्यार करके उसे न पाना जिन्दगी भर का नासूर बन जाता है
चाहे हम बाहर से है जिन्दा पर न जाने क्यों अंदर से उसका गम हमे मार जाता है