Love Shayari sapne mein aati hai

Love Shayari sapne mein aati hai

Love Shayari sapne mein aati hai

 

 

Love Shayari- सपने में वो आती है

Love Shayari sapne mein aati hai
Love Shayari sapne mein aati hai

 

sapne mein aati hai

 

दिल बहुत रोता है जब अब भी अचानक सपने में वो आती है
क्या बताये क्यों उसकी याद रह रह के अभी भी सताती है
प्यार तो उसका बेसुमार मिला पर वो मुझे मिल न पाई
किस्मत से मागा था सिर्फ साथ उसका न जाने क्यों मिली जुदाई

न जाने कितनी राते उसकी यादो में  रोया हु
कभी तो मेरी बनेगी इसी उम्मीद से सोया हु
आँखे बंद करू तो अब भी उसका चेहरा नजर आता है
न जाने क्यों उसके सिवा अब भी कोयी नही भाता है
 
उसकी एक झलक पाने को अब भी आखे प्यासी है
उसके बिना न जाने क्यों जिन्दगी में अब भी उदासी है
 इतने सालो बाद भी न जाने क्यों उसे भुला पाया हु
दिल में लगी चोट को  अब तक न भर पाया हु

जिन्दगी ने उससे मिलाया सोचा जिन्दगी भर का उसका साथ भी मिलेगा
यु ही हम दोनों का प्यार आगे भी खिलेगा
पर न जाने क्यों किस्मत को साथ हमारा गवारा न रहा
वो आज हमारा होकर भी हमारा न रहा

दोनों ही अलग हो गये पर न जाने क्यों अब भी सपने में आकर बहुत रुलाती है
दिल बहुत भर आता है और आँखे अपना काम कर  जाती है
सोचा था सादी हो जाएगी उसे भूल जाऊंगा
फिर उसे  याद  कभी न  कर  पाउँगा

पर एसा नही होता प्यार में चोट खाया दिल जिन्दगी भर रहता है रोता
किसी न किसी बात पे उसकी याद आ ही जाती है और न जाने क्यों बहुत रुलाती है