Love Shayari karate the ham jinase dilojaan se pyaar

Love Shayari karate the ham jinase dilojaan se pyaar

 

Love Shayari karate the ham jinase dilojaan se pyaar
Love Shayari karate the ham jinase dilojaan se pyaar

karate the ham jinase dilojaan se pyaar

 

के करते थे हम जिनसे दिलोजान से प्यार वो भी हमारे ना हुवे
वादे किये ना जाने कितने पर उनसे वो निभाये ना हुवे
सायद ही कोई मजबूरी होगी उसकी जो साथ उसने हमारा ना दिया
 जिन्दगी भर साथ निभाने का किया था वादा एक पल में अकेला कर दिया

जिन्दगी जीने की उम्मीद एक पल में मायूस कर गये
हम ना जाने उनके लिए किस हद तक हद से गुजर गये
पर उनके दिल में क्या था वो हम कभी जान ना पाये
 ना जाने उनके प्यार में हमने कितनी ठोकर खाये

सच है दोस्तों प्यार में इंसान सम्भलना भूल जाता है
प्यार की लत लग जाये जिसे वो फिर कहा सभल पाता है
अंत में  थक हार के जो ना मिला उसे किस्मत का खेल समझ लेता है
और अपनी जिन्दगी को किस्मत के हवाले छोड़ देता है

बीबी *

Love Shayari karate the ham jinase dilojaan se pyaar
Love Shayari hindi 
के मिलता है बीबी का साथ तो उम्मीद जाग जाती है
जिन्दगी में प्रेमिका की कमी बीबी पूरी कर जाती है
कुछ पल उसके रंग में भी खूब रंग जाते है
अब जिन्दगी में दोस्तों हम कुछ सभल जाते है 

समय बित्ता है जम्मेवारी आ जाती है

फिर तो हमे कुछ सोचने का वक्त कहा मिल पाता है
अब जीना आसान और समय गुजरने लगता है
पर दोस्तों किस्मत के आगे किसका बस चलता है

अभी के समय में >

 

प्रेमिका तो बेवफा होती है अब बीबी भी बेवफाई कर रही है
 हमे छोड़ किसी दुसरे का हाथ पकड़ रही है
 अब ना बच्चो का मोह है ना पति की है प्रवाह
किसी और का साथ पाने के लिए हो गये है क्यों लाप्रवाह

पर एसे लोग बहुत ठोकर खाते है
जो कुछ पल के सुख के लिए अपनों को छोड़ के जाते है
एसे लोगो को पछतावा होता होगा फिर सभल कहा पाते है
जो किसी दुसरे के साथ के लिए अपने मासूम बच्चो और पति को छोड़ के जाते है